हम हैं आपके साथ

हमसे फेसबुक पर जुड़ें

कृपया हिंदी में लिखने के लिए यहाँ लिखे.

आईये! हम अपनी राष्ट्रभाषा हिंदी में टिप्पणी लिखकर भारत माता की शान बढ़ाये.अगर आपको हिंदी में विचार/टिप्पणी/लेख लिखने में परेशानी हो रही हो. तब नीचे दिए बॉक्स में रोमन लिपि में लिखकर स्पेस दें. फिर आपका वो शब्द हिंदी में बदल जाएगा. उदाहरण के तौर पर-tirthnkar mahavir लिखें और स्पेस दें आपका यह शब्द "तीर्थंकर महावीर" में बदल जायेगा. कृपया "रमेश कुमार निर्भीक" ब्लॉग पर विचार/टिप्पणी/लेख हिंदी में ही लिखें.

सोमवार, अगस्त 23, 2010

हिंदी की टाइपिंग कैसे करें

इन्टरनेट या अन्य सोफ्टवेयरों में
 हिंदी की टाइपिंग कैसे करें
चलिए! आज बात करते हैं हिंदी भाषा की, कहने को तो हिंदी हमारे देश की राजभाषा है. मगर आज हिंदी को उतना सम्मान नहीं मिल रहा है, जितने की हक़दार थीं. फिर भी आज जितनी हिंदी की पत्र-पत्रिकाये शुरू होती है, उतनी अंग्रेजी की नहीं. अच्छा अब इस बहस में नहीं पड़कर सीधे से अपने विषय पर आते हैं. वैसे हिंदी की टाइपिंग थोड़ी मुश्किल तो है, मगर इतनी मुश्किल भी नहीं है कि-हिंदी की टाइपिंग सीखी/करी न जा सकें.फिर हिंदी की टाइपिंग कौन-सी असंभव चीज है, जो करी न जा सकें. कहा जाता है कि-आसान कार्य तो सभी करते हैं, मगर मुश्किल कार्य कोई-कोई करता है. इसी सन्दर्भ में एक कहावत भी है कि-गिरते हैं मैदाने जंग में शेरे सवार,वो क्या खाक गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं.बस अपने मन में ठानकर निरंतर प्रयास करना शुरू कर दीजिये. तब देखना कैसे हिंदी पर आपकी उंगुलियां अपने आप कैसे और किस गति से चलती है.मैं आपको जितनी भी मुझे जानकारी है उसी के आधार पर हिंदी टाइपिंग से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी सरल (आम बोलचाल) भाषा में दे रहा हूँ. किसी प्रकार की कोई गलती हो गई हो तो क्षमा कर दें.मैंने सुना है कि ज्ञान बाँटने से ही ज्ञान बढ़ता है. उसी ज्ञान को बढ़ाने हेतु अपनी जानकारी आपसे बाँट रहा हूँ.
जब कंप्यूटर पर हिन्दी में काम आरंभ हुआ तो वहाँ हिन्दी के लिए कोई अलग से एनकोडिंग नहीं थी। तब रोमन के लिए जो एनकोडिंग थी उसी पर देवनागरी के अक्षर चस्पा कर दिए गए। इस तरह सैंकड़ों की संख्या में हिन्दी फोंट अस्तित्व में आ गए। लेकिन अब दुनिया की सभी भाषाओं के लिए एनकोडिंग हो चुकी है। देवनागरी भी उस में शामिल है। कंप्यूटर उसे समझता है। यह एनकोड़िंग यूनीकोड कही जाती है।
आप को इंटरनेट पर हिन्दी टाइप करने के लिए अंग्रेजी जानना कतई जरूरी नहीं है। आप सीधे हिन्दी टाइप कर सकते हैं. इस के लिए आप को इन्स्क्रिप्ट टाइपिंग सीखनी होगी। हिन्दी इन्स्क्रिप्ट टाइपिंग सीखने के लिए आसान हिन्दी टाइपिंग ट्यूटर नेट से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है जिस की सहायता से आप 15 दिन में हिन्दी सीधे टाइप कर पाएंगे जो त्रुटिरहित होगी औऱ स्पीड भी अंग्रेजी के मुकाबले की आएगी।
सबसे पहले तो इन्टरनेट को छोड़कर अन्य सोफ्टवेयरों में हिंदी की टाइपिंग के लिए आपके कंप्यूटर में हिंदी के फॉण्ट होने चाहिए. कौन-कौन से हिंदी और अंग्रेजी के फॉण्ट होते हैं कुछों की जानकारी नीचे दी गई है.
आप हिंदी की टाइपिंग आने के बाद Adobe Page Maker, Adobe Photo Shop, Corel Draw, Paint, Word Pad और Microsoft office के सभी सोफ्टवेयर Access, Info Path, Out Look, Power Point, Publisher, Word Document, Excel आदि के किसी भी VERSION में हिंदी की टाइपिंग कर सकते हैं.जैसे Adobe Page Maket 7.0 और Corel Draw 12 आदि.
यह चार्ट आपको बताता है कि-किसी भी सोफ्टवेयर में हिंदी का फॉण्ट सलेक्ट करने के बाद Key Board के किस-किस अक्षर को दबाने से कौन-सा अक्षर आता है.अगर आपको अलग-अलग फॉण्ट में किसी विशेष अक्षर को लेकर समस्या आती है तब आप स्टार्ट पर किल्क करके all प्रोग्राम्स पर जाने के बाद accessories पर जाने के बाद सिस्टम टूल्स पर जाकर character map दिखने पर उसे दो बार किल्क कर दें. जिस फॉण्ट में जिस अक्षर की समस्या आ रही है. उसे सलेक्ट करके उस अक्षर को ढूढ़े और ढूढ़कर उसे किल्क करके नीचे देखें, वहां पर लिखा होगा कि उपरोक्त अक्षर किसके दबाने से आएगा. जैसे- "नारद" फॉण्ट में "द्द" अक्षर alt और 0237 एक साथ दबाने से आता है.
यह चार्ट आपको बताता है कि-किसी भी सोफ्टवेयर में हिंदी का "नारद" और "कुर्ती देव" फॉण्ट सलेक्ट करने के बाद alt और उपरोक्त निम्नलिखित नम्बरों को एक साथ दबाने से कौन-सा अक्षर आता है. इस चार्ट में "k" का अर्थ "कुर्ती देव" फॉण्ट से है.

इन्टरनेट पर हिंदी में टायपिंग करने के लिए आपको http://www.google.co.in/transliterate को खोलकर हिंदी सलेक्ट करके आपको key board से अंग्रेजी(रोमन में) के अक्षर लिखकर जैसे ही आप स्पेस दोगे,वो ही अक्षर हिंदी में बदल जायेगा. जैसे-हिंदी में "राम" लिखने के लिए 'ram' दबाकर स्पेश देना होगा. अपने आप ही 'ram' हिंदी में बदल जायेगा. किसी शब्द को टाइप करने के और स्पेश देने के बाद अगर गलत शब्द आता है तो आप backspace को एक-दो बार दबाते हैं तब एक बॉक्स में कई शब्द नज़र आयेंगे. उनमें से आपका जो उच्चारण के हिसाब से सही शब्द हो उसे 'मॉउस' की सहायता से या 'एरो' की मदद लेकर enter दबाकर सलेक्ट कर लें. अगर बॉक्स में सही शब्द न आये तो अपने अंग्रेजी के अक्षरों की जाँच करके ठीक से लिखें.उपरोक्त दोनों यह चार्ट आपको बताते हैं कि-कौन-कौन से अक्षर दबाने से इन्टरनेट पर हिंदी का कौन-कौन-सा अक्षर आता है.अगर आपको किसी शब्द के पहले और बीच में 'उ' चाहिए तो आपको 'u' दबाना होगा और किसी शब्द पर 'उ' की मात्रा चाहिए तो उस अक्षर के बाद 'u' दबाना होगा. जैसे-'कु' के लिए 'ku' इसी प्रकार हिंदी के शब्द में पहले और बीच में आधे अक्षर हेतु प्रयोग करना होगा. जैसे-'क्या' के लिए 'kya' और 'वक्त' हेतु 'wakt' लिखना होगा. इन्टरनेट पर 'ज्ञ' टाईप करने के लिए चार्ट के अनुसार 'jny' टाईप न करके 'gy' टाईप करें. इसी प्रकार 'ज्ञ' से जुड़े अन्य अक्षरों के लिए 'jn' के स्थान पर 'g' दबाकर पीछे के वहीं अक्षर दबाकर अपना शब्द पूरा करें.उपरोक्त चार्ट की मदद से हिंदी की टायपिंग सीख सकते हैं.
उपरोक्त यह चार्ट आपको हिंदी व अंग्रेजी आदि के कुछ फोन्टों के नामों जानकारी देता है.जो विभिन्न-विभिन्न नामों से फॉण्ट पहचाने जाते हैं.
 विशेष महत्वपूर्ण सूचना:अगर आप अपने कम्प्यूटर में adobe page maker का कोई भी version डाल लेते हैं और हिंदी की टाईपिंग की गति बढ़ना चाहते हैं. तब मैं हिंदी के कौन-कौन शब्दों का कब-कब कितना अभ्यास करना है से संबंधित फाईल आपकी आवश्यकता है की ईमेल मिलने पर ईमेल द्वारा दो फाईल भेज सकता हूँ.जिनके द्वारा आप अपनी हिंदी की टाईपिंग में गति बढ़ा सकते है
महोदय/ महोदया जी, आपने अपना कीमती समय मेरे ब्लॉग को पढ़ने के लिए दिया उसके लिए आपका तहे-दिल से आपका शुक्रिया (धन्यबाद) करता हूँ.
नियमित रूप से मेरा ब्लॉग http://rksirfiraa.blogspot.com/ & http://sirfiraa.blogspot.com/   देखें. अच्छी या बुरी टिप्पणियाँ आप करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें.
# निष्पक्ष, निडर, अपराध विरोधी व आजाद विचारधारा वाला प्रकाशक, मुद्रक, संपादक, स्वतंत्र पत्रकार, कवि व लेखक रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" फ़ोन: 09868262751, 09910350461 email:sirfiraa@gmail.com महत्वपूर्ण संदेश-समय की मांग, हिंदी में काम. हिंदी के प्रयोग में संकोच कैसा,यह हमारी अपनी भाषा है. हिंदी में काम करके,राष्ट्र का सम्मान करें.हिन्दी का खूब प्रयोग करे. इससे हमारे देश की शान होती है. नेत्रदान महादान आज ही करें. आपके द्वारा किया रक्तदान किसी की जान बचा सकता है.

11 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही उपयोगी पोस्ट ,कई लोग इससे हिंदी लिखने में उपयोगी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    किसी भी तरह की तकनीकिक जानकारी के लिये अंतरजाल ब्‍लाग के स्‍वामी अंकुर जी,
    हिन्‍दी टेक ब्‍लाग के मालिक नवीन जी और ई गुरू राजीव जी से संपर्क करें ।

    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत की कक्ष्‍या चल रही है ।

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,
    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
    सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के
    प्रसार में अपना योगदान दें ।
    यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

    हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

    धन्‍यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. हिंदी प्रचार और प्रसार के लिए आपका उपयोगी योगदान.
    सराहनीय प्रयास. एक ज्ञानवर्धक पोस्ट. आज की ज़रुरत.

    उत्तर देंहटाएं
  4. हिंदी टाइप सिखाने का एक अच्छा प्रयास है | धन्यवाद्|

    उत्तर देंहटाएं
  5. ब्लागिंग की दुनिया में आपका स्वागत है. आपका प्रयास सराहनीय है. हिंदी ब्लागिंग को आप नई ऊंचाई तक पहुंचाएं, यही कामना है....
    इंटरनेट के जरिए अतिरिक्त आमदनी के लिए यहां पधार सकते हैं - http://gharkibaaten.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  6. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    उत्तर देंहटाएं
  7. हिंदी लेखन के सन्दर्भ में महत्वपूर्ण जानकारी बाँटने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद .......आपका प्रोफाइल पढ़ के काफी सुखानुभूति हुई आज के परिदृश्य में आप जैसे कर्मठ और जुझारू नौजवानों कि देश को बड़ी आवश्यकता है .......

    एक समग्र प्रयास देश के लिए देश के युवाओं द्वारा जिस पे आप कि प्रतिक्रिया आवश्यक है ....कृपया अवलोकन करे....www.ydfparty.org


    आपका अपना
    तरुण तिवारी

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी ये पोस्ट इन्टरनेट की दुनिया में हिन्दुस्तान के लिए एक मिशाल है, सागर की धारा मोड़ देने का मद्दा रखती है, आपकी ये पोस्ट. शुभकामनायो के साथ.

    उत्तर देंहटाएं
  10. सर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में कुर्ती देव फॉन्ट में ट्र कैसे लिखे

    उत्तर देंहटाएं

अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें. आप हमारी या हमारे ब्लोगों की आलोचनात्मक टिप्पणी करके हमारा मार्गदर्शन करें और हम आपकी आलोचनात्मक टिप्पणी का दिल की गहराईयों से स्वागत करने के साथ ही प्रकाशित करने का आपसे वादा करते हैं. आपको अपने विचारों की अभिव्यक्ति की पूरी स्वतंत्रता है. लेकिन आप सभी पाठकों और दोस्तों से हमारी विनम्र अनुरोध के साथ ही इच्छा हैं कि-आप अपनी टिप्पणियों में गुप्त अंगों का नाम लेते हुए और अपशब्दों का प्रयोग करते हुए टिप्पणी ना करें. मैं ऐसी टिप्पणियों को प्रकाशित नहीं करूँगा. आप स्वस्थ मानसिकता का परिचय देते हुए तर्क-वितर्क करते हुए हिंदी में टिप्पणी करें.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

मार्मिक अपील-सिर्फ एक फ़ोन की !

मैं इतना बड़ा पत्रकार तो नहीं हूँ मगर 15 साल की पत्रकारिता में मेरी ईमानदारी ही मेरी पूंजी है.आज ईमानदारी की सजा भी भुगत रहा हूँ.पैसों के पीछे भागती दुनिया में अब तक कलम का कोई सच्चा सिपाही नहीं मिला है.अगर संभव हो तो मेरा केस ईमानदारी से इंसानियत के नाते पढ़कर मेरी कोई मदद करें.पत्रकारों, वकीलों,पुलिस अधिकारीयों और जजों के रूखे व्यवहार से बहुत निराश हूँ.मेरे पास चाँदी के सिक्के नहीं है.मैंने कभी मात्र कागज के चंद टुकड़ों के लिए अपना ईमान व ज़मीर का सौदा नहीं किया.पत्रकारिता का एक अच्छा उद्देश्य था.15 साल की पत्रकारिता में ईमानदारी पर कभी कोई अंगुली नहीं उठी.लेकिन जब कोई अंगुली उठी तो दूषित मानसिकता वाली पत्नी ने उठाई.हमारे देश में महिलाओं के हितों बनाये कानून के दुरपयोग ने मुझे बिलकुल तोड़ दिया है.अब चारों से निराश हो चूका हूँ.आत्महत्या के सिवाए कोई चारा नजर नहीं आता है.प्लीज अगर कोई मदद कर सकते है तो जरुर करने की कोशिश करें...........आपका अहसानमंद रहूँगा. फाँसी का फंदा तैयार है, बस मौत का समय नहीं आया है. तलाश है कलम के सच्चे सिपाहियों की और ईमानदार सरकारी अधिकारीयों (जिनमें इंसानियत बची हो) की. विचार कीजियेगा:मृत पत्रकार पर तो कोई भी लेखनी चला सकता है.उसकी याद में या इंसाफ की पुकार के लिए कैंडल मार्च निकाल सकता है.घड़ियाली आंसू कोई भी बहा सकता है.क्या हमने कभी किसी जीवित पत्रकार की मदद की है,जब वो बगैर कसूर किये ही मुसीबत में हों?क्या तब भी हम पैसे लेकर ही अपने समाचार पत्र में खबर प्रकाशित करेंगे?अगर आपने अपना ज़मीर व ईमान नहीं बेचा हो, कलम को कोठे की वेश्या नहीं बनाया हो,कलम के उद्देश्य से वाफिक है और कलम से एक जान बचाने का पुण्य करना हो.तब आप इंसानियत के नाते बिंदापुर थानाध्यक्ष-ऋषिदेव(अब कार्यभार अतिरिक्त थानाध्यक्ष प्यारेलाल:09650254531) व सबइंस्पेक्टर-जितेद्र:9868921169 से मेरी शिकायत का डायरी नं.LC-2399/SHO-BP/दिनांक14-09-2010 और LC-2400/SHO-BP/दिनांक14-09-2010 आदि का जिक्र करते हुए केस की प्रगति की जानकारी हेतु एक फ़ोन जरुर कर दें.किसी प्रकार की अतिरिक्त जानकारी हेतु मुझे ईमेल या फ़ोन करें.धन्यबाद! आपका अपना रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा"

क्या आप कॉमनवेल्थ खेलों की वजह से अपने कर्त्यवों को पूरा नहीं करेंगे? कॉमनवेल्थ खेलों की वजह से अधिकारियों को स्टेडियम जाना पड़ता है और थाने में सी.डी सुनने की सुविधा नहीं हैं तो क्या FIR दर्ज नहीं होगी? एक शिकायत पर जांच करने में कितना समय लगता है/लगेगा? चौबीस दिन होने के बाद भी जांच नहीं हुई तो कितने दिन बाद जांच होगी?



यह हमारी नवीनतम पोस्ट है: